क्वियर गर्व उत्सव 2015

2015 Poster

 

क्वियर यानि लेस्बियन, गे, बायसेक्शुअल, ट्रान्सजेंडर, इंटरसेक्स तथा क्वियर (LGBTIQ) व्यक्ति । अधिकांश भारतीय समाज स्त्री एवं पुरुष के बीच होनेवाले संबंध को ही वैध मानता है. क्वियर समुदाय ऐसे लैंगिक अल्पसंख्य लोगों का समुदाय है जिसे भारतीय समाज एवं कानून नकारता है । वैधानिक स्तर पर अपने संविधान द्वारा दिए गए अधिकारों के लिए तथा सामाजिक स्तर पर स्वीकृति और सम्मान के लिए भारत का क्वियर समुदाय लंबे समय से संघर्ष कर रहा है ।

क्वियर आज़ादी मुंबई (QAM) यह ऐसी संघटनाओं तथा व्यक्तियों का एक समूह है, जो भारत के क्वियर समुदाय की आवाज़ बुलंद करने के लिए स्वेच्छा से इकट्ठा हुए हैं । क्वियर समुदाय को अधिक सशक्त बनाने और समाज के सभी प्रवाहों में इसके अस्तित्व के प्रति जागरण निर्माण करने हेतु QAM विभिन्न उपक्रम आयोजित करता है । इनमें प्रमुख है ‘मुंबई प्राइड’ नामक अभिमान यात्रा, जिसका आयोजन सन 2008 से होता आ रहा है । ‘मुंबई प्राइड’ एक आवाज़, एक अभिव्यक्ति, उत्सव तथा एक मंच भी है, जहाँ क्वियर व्यक्तियों के लिए भारतदेश में समान अधिकारों की माँग की जाती है ।

प्रौढ व्यक्तियों के, परस्पर सम्मति से होनेवाले नीजी यौनसंबंधों को अपराध करार देनेवाली भारतीय दंड संहिता की धारा 377 को दिल्ली उच्च न्यायालय ने 02 जुलाई 2009 को असंवैधानिक घोषित किया तो था, किंतु सर्वोच्च न्यायालय ने 11 दिसंबर 2013 को इस निर्णय को रद्द करके धारा 377 को फिर से कार्यान्वित कर दिया । इसपर दाखिल की गई रिव्यू पिटिशन को भी सर्वोच्च न्यायालय ने खारिज कर दिया और फिलहाल इसके विरुद्ध क्वियर समुदाय ने दाखिल की हुई क्युरेटिव पिटिशन न्यायालय में प्रलंबित है । लोगों को उनकी यौनिकता के बावजूद समानता देनेवाले निर्णय तक हमारे सर्वोच्च न्यायलय को पहुँचाने के लिए हमें कठिन प्रयास और सहायता की आवश्यकता है ।

एक पूरा महीना QAM मंचप्रयोग, फिल्म प्रदर्शन, फ्लैश मॉब, नाटक, ड्रैग-शो, पथनाट्य, मेला और अंत में मुंबई प्राइड का अयोजन करती है, जहाँ हज़ारों की संख्या में क्वियर व्यक्ति समाज के सामने अपने समान मानवीय अधिकारों को प्रस्थापित करते हैं और उनके प्रति समाज को जागरित करते हैं । यह प्राइड मार्च क्वियर समुदाय में गर्व की भावना निर्माण करने का ऐसा कार्य करती है जिसे हमारा सांप्रत समाज और कानून नहीं कर पाता । हमें लगता है कि हर एक व्यक्ति अपनी यौनिकता के बावजूद अपने पर गर्व और फ़ख्र महसूस करे । इसीलिए हमारा नारा है “फख्र है” !

जो कुछ अब तक हासिल किया है और जितना फ़ासला तय किया है वहाँ से अब पीछे हटना तो नामुम्किन है ही, लेकिन हमें यह अहसास भी है कि आगे की राह बड़ी मुश्किल और चुनौतियों से भरी हुई है । सभी को समानता से देखनेवाले समावेशक समाज का निर्माण करने में हमारी मदद अगर कोई कर सकता है, तो वे आप ही हैं ।

आइए ! हमारा साथ दीजिए ! हमारे साथ मार्च करें और केवल समानता को माननेवाले भेदभावरहित एकसंध भारत के निर्मण में हमें सहयोग दें ! 
QAM की ‘मुंबई प्राइड’, शनिवार, 31 जनवरी 2015, दोपहर 3.00 बजे से, ऑगस्ट क्रांती मैदान , मुंबई ।

 

MAP

अधिक जानकारी के लिए – ई-मेल : info@mumbaipride.in
फोन संपर्क :
सोनल ग्यानी # +91 9920560011  हरीश अय्यर # +91 9833100340

पल्लव पाटणकर # +91 9619012251  अंकित भुपतानी # +91 9920879663

3 Comments on “क्वियर गर्व उत्सव 2015”

  1. Hi, is anybody here interested in online working? It is simple survey filling.
    Even 10 bucks per survey (ten minutes of work). If you
    are interested, send me e-mail to hans.orloski[@]gmail.com

  2. I have checked your blog and i’ve found some duplicate content,
    that’s why you don’t rank high in google, but there is a tool that can help you to create 100% unique articles,
    search for; boorfe’s tips unlimited content

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *